Loading

Program

Program

Program

एक नजर में

यहां क्षेत्र के विकास को ध्यान में रखते हुए किये गये प्रयास

  • राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-28 सी, बाराबंकी-जरवल-रूपहिया मार्ग का चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण हेतु किये गये प्रयासों के मद्देनजर माननीय केन्द्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग एवं पोत परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी जी द्वारा शिलान्यास कर राजमार्ग निर्माण कार्य तय सीमा में पूर्ण करा लिया गया।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग सं0-56 लखनऊ-सुल्तानपुर मार्ग का फोर लेन चैड़ीकरण कार्य प्रगति पर।
  • राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-28 लखनऊ-फैजाबाद मार्ग पर दुर्घटनाओं को रोकने के लिए माननीय केन्द्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री को पत्राचार किये गये, प्रयास जारी है।
  • बाराबंकी-फतेहपुर-वाया देवां रेल मार्ग निर्माण हेतु लगातार प्रयासों के तहत सर्वे हेतु धनराशि का आवंटन कराया जा चुका है, लगातार प्रयास जारी है।
  • जनपद बाराबंकी में राजकीय महिला महाविद्यालय की स्थापना हेतु भारत सरकार से अनुरोध किया गया था, जो बाराबंकी जनपद के ही विधानसभा दरियाबाद के विकासखण्ड पूरेडलई में स्वीकृत किया जा चुका है। 
  • संसदीय क्षेत्र केन्द्रीय विद्यालय बाराबंकी में छात्रो की उचित शिक्षा व्यवस्था हेतु माननीय केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री जी को पत्राचार व व्यक्तिगत मुलाकात कर द्वितीय पाली शुरू कराये जाने अनुरोध किया गया।
  • जनपद के प्राचीन धार्मिक एवं पौराणिक स्थलो का विकास- 
  • प्रधानमंत्री राहत कोश से अब तक लगभग 125 पीड़ितो को गम्भीर बीमारियों के इलाज हेतु लगभग 4,88,79,932 रू0 (चार करोड़ अठासी लाख उन्नासी हजार नौ सौ बत्तीस) रूपये की संस्तुति के लिए लिखा जा चुका है जिसमें लगभग 48 गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों को छप्पन लाख छियासी हजार रूपये (56,86,000/-) की आर्थिक सहायता दिलायी जा चुकी है। 
  • बच्चो के टीकाकरण को इन्द्र धनुश परियोजना के पायलट प्रोजेक्ट को कुछ चुनिंदा जनपदों में बाराबंकी को शामिल कराया गया।
  • हाइवे बाइपास से परिवहन निगम की बसों के बाहर से निकलने की समस्या को दृश्टिगत रखते हुए सांसद जी ने नगर निगम व परिवहन निगम के साथ विस्तृत वार्ता कर सिटी बसें संचालित कराये जाने का प्रस्ताव रखा इसके तहत सफेदाबाद से बाराबंकी नगर के अन्दर होते हुए रसौली तक तथा सूतमिल चैराहे से रेलवे स्टेशन, बसअण्डा होते हुए बड़ेल चैराहे तक के दो रूटों पर बससेवा संचालित कराये जाने की मांग की गई है तथा सहमति भी बन गई है, शीघ्र ही बसों का संचालन प्रारम्भ होने की सम्भावना है।
  • 17 दिसम्बर, 2014 - सांसद ने लोकभा में अपने संसदीय क्षेत्र बाराबंकी में अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित ट्रामा संेटर की स्थापना की रखी। सांसद ने सदन में अपनी बात रखते हुए कहा कि बाराबंकी जनपद में कई महत्वपूर्ण व्यस्तम राजमार्ग हैं, जिनपर आये दिन कहीं न कहीं अप्रिय घटनाएं होती रहती हैं, दुर्घटना के दौरान गम्भीर अवस्था में पीड़ित को 20 किमी दूर लखनऊ ले जाना पड़ता है, सही समय में चिकित्सा न मिल पाने से प्रायः मरीज की मौत हो जाती है। ऐसी अवस्था में जनपद में ट्रामा सेंटर खोला जाना नितान्त आवश्यक है।
  • वर्श 2014 से अब तक सांसद जी के प्रयास से कुल 500 सोलर लाइटे सी0एस0आर0 फण्ड से ग्रामीण इलाको में स्थापित करायी गई।

28 सूत्रीय विकासपरक एजेण्डा का प्रगति विवरण

  • बाराबंकी शहर के अन्दर की सभी कच्ची सड़को को पक्का करना - इस क्रम में लक्ष्मणपुरी कालोनी मंे सी0सी0 रोड का निर्माण कराया जा चुका है, इसके अतिरिक्त नगर पालिका परिशद के माध्यम से अधिकांश कच्चे मार्गो को पक्का कराया जा चुका है, अवशेश कार्यो को शीघ्र ही पूर्ण कराने का प्रयास किया जा रहा है।
  • संसदीय क्षेत्र के गांवों को सम्पर्क मार्ग से जोड़ना- इस क्रम में विभिन्न विकासखण्डों में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत वर्श 2015-16 एवं वर्श 2016-17 में अब तक बाराबंकी जनपद के दूरस्थ दुर्गम इलाको तक के जर्जर 42 सम्पर्क मार्गो का निर्माण कार्य पूरा कराकर उनका लोकार्पण भी किया जा चुका है, इन मार्गो पर लगभग 90 करोड़ की धनराशि व्यय हुई है, जिनकी कुल लम्बाई लगभग 177.58 किमी है। इसके अतिरिक्त जनपद के विभिन्न ब्लाको के गांवो से जोड़ने के लिए कच्चे मार्गो पर सुगम यातायात हेतु लगभग 60 किमी सम्पर्क मार्ग का प्रस्ताव भेजा जा चुका है, शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ हो जाएगा।
  • बाराबंकी-देंवा रोड पर बनने वाले फ्लाई ओवर को समयान्तर्गत पूर्ण कराना - यह कार्य भी पूर्ण करा लिया गया है।
  • फतेहपुर और देवां में बाईपास का निर्माण कराना - इस सम्बंध में प्रयास जारी है।
  • बाराबंकी से देवां, फतेहपुर और सूरतगंज होते हुए बहराइच तक रेलवे लाइन बिछवाने का प्रयास करना - प्रयास जारी है।
  • संसदीय क्षेत्र के विद्युतीकरण से वंचित गांवो तक बिजली पहुचाना - इस क्रम में विद्युतीकरण से वंचित गांवो को वर्श 2014-15 में 2806 गाव तथा वर्श 2015-16 में 2017 गांवो विद्युतीकरण योजना के अन्तर्गत शामिल कराते हुए 60 प्रतिशत कार्य पूरा करा लिया गया है, शेश कार्य प्रगति पर है।
  • संसदीय क्षेत्र बाराबंकी की सभी नहरो का पानी टेल पहुचाना - जिला विकास समन्वयक एवं निगरानी समिति (दिशा) जिसकी मैं स्वयं अध्यक्ष हू, नहरो का पानी टेल तक पहुचाने हेतु सम्बंधित विभागो को कड़े निर्देश दिये जा रहे हैं तथा उनकी समीक्षा भी की जा रही है।
  • संसदीय क्षेत्र बाराबंकी के पर्यटन स्थलो का जीर्णोद्धार वं सौन्दर्यीकरण कराना - इस क्रम में जनपद बाराबंकी के अति प्राचीन मंदिरों का जीर्णोद्धार एवं सौन्दर्यीकरण हेतु भारत सरकार द्वारा कुल 8 करोड़ 23 लाख रूपये का बजट स्वीकृति कराते हुए माननीय संस्कृति मंत्री श्री महेश शर्मा जी द्वारा शिलान्यास कार्य सम्पन्न किया जा चुका हैं, जिसके क्रम में 11 तीर्थ स्थलों के क्रमशः 1. बाबा टीकाराम तपोस्थली के लिए 2 करोड़ 8 लाख रूपये 2. सि़द्धेश्वर महादेव मंदिर 84 लाख रूपये, 3. लोद्धेश्वर महादेव मंदिर को 56 लाख रूपये, 4. भगवान प्रसन्नाथ मंदिर को 38 लाख रूपये, 5. महादेवा तालाब के लिए 98 लाख रूपये,  6. सुमली नदी गंगापुर घाट के लिए 1 करोड़ 65 रूपये, 7. मौनीदास बाबा मंदिर के लिए 45 लाख रूपये, 8. परिजात वृक्ष के लिए 26 लाख, 9. कोटवाधाम के लिए 54 लाख रूपये, 10. कुंतेश्वर महोदव मंदिर के लिए 29 लाख रूपये, 11. सनेश्वर मंदिर के 20 लाख रूपये आवंटित किये गये, जिसके अन्तर्गत चाहरदीवारी का निर्माण, बारिश आश्रय का निर्माण, सौर्य ऊर्जा की लाइटें, जन सुविधाएं, बेंच, रास्ते, साइनेज, भूनिर्माण, कचरे की पेटियां, घाट  का निर्माण, साइनेज तथा स्नान और कपड़े बदलने हेतु कमरे की व्यवस्था पर खर्च किया जाएगा, शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ हो जाएगा।
  • महादेवा तालाब, फतेहपुर तथा धनोखर तालाब बाराबंकी का सौन्दर्यीकरण -  महादेवा तालाब के जीर्णोद्धार हेतु भारत सरकार से 98 लाख रूपये स्वीकृत कराये जा चुके हैं, शीघ्र ही यह कार्य पूर्ण करा लिया जाएगा। धनोखर तालाब बाराबंकी का जीर्णोद्धार नगर पालिका परिशद बाराबंकी ने अपनी कार्ययोजना में शामिल कर लिया है, शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ करा दिया जाएगा।
  • मेंथा आयल का न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारण हेतु प्रयास - इस संदर्भ में मेंथा किसानो की समस्याआं को लोकसभा पटल रखते हुए मेंथा आॅयल का न्यूनतम समर्थन मूल्य में सूचीबद्ध किये जाने की मांग की जा चुकी है। तथा मेंथा किसानो के लिए माननीय मंत्री जी से इस बिन्दु पर विस्तार से चर्चा हो चुकी है, प्रयास जारी है।
  • मंथा की फसल को दैवीय आपदा के लिए मुआवजा दिलाने की व्यवस्था करना - दैवीय आपदा से बर्बाद फसल के लिए किसानो को मुआवजा की व्यवस्था की मांग के साथ मेंथा की पेराई के लिए मेंथा आधारित उद्योग स्थापित कराये जाने का प्रयास किया जा रहा है।
  • कृशि एवं पशुपालन आधारित उद्योग धन्धों का विकास - प्रयास जारी है।
  • बाराबंकी में बाढ़ से तबाह फसलों के लिए उचित मुआवजा दिलाये जाने तथा बाढ़ के रोकथाम हेतु पक्के पुल का निर्माण कराया जाना - घाघरा नदी के तटबंध पर बांध निर्माण कार्य प्र्रगति पर है, इस बांध के पूर्ण से घाघरा नदी की तलहटी में जनपद बाराबंकी के निवास कर रहे लोगो को बांढ़ से राहत दिलायी जा सकेगी।
  • शारदा कैनाल के निकट सीपेज से किसानो को मुक्ति दिलाना - इस संदर्भ में समय-2 पर समीक्षा बैठक में निर्देश दिये जा रहे हैं।
  • असिंचित भूमि को कृशि योग्य बनाने हेतु सिचाई सुविधा उपलब्ध कराना- प्रदेश में समाजवादी सरकार होने के कारण  अपेक्षित सहयोग नही मिल सका था, अब उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बन चुकी है, शीघ्र ही सिचाई साधनों की उपलब्धता करायी जाएगी।
  • अफीम कास्तकारों के लिए रकबा बढ़ाने व उचित खरीद मूल्य दिलाने का प्रयास जारी है।
  • सूरतगंज ब्लाक में किसानो से चीनी मिल के लिए ली गई जमीन पर चीनी मिल चालू कराने अथवा विद्युत पावर प्लाण्ट संचालित कराने का प्रयास - दो विद्युत पावर प्लाण्ट जनपद बाराबंकी को ही 24 घण्टे बिजली उपलब्ध कराये जाने का प्रयास जारी है, काफी हद तक समस्या का समाधान भी हो चुका है।
  • बुढ़वल चीनी मिल को चालू कराना - माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा किसानो को हित को देखते हुए बुढ़वल चीनी मिल को 30 साल के लिए लीज पर देने का निर्णय लिया, इसके तहत निवेशकों को 1 साल के अदंर चीनी मिल शुरू कराये जाने की शर्त रखी गयी, सरकार वर्श 2018-19 की गन्ना पेराई कार्य कराने का लक्ष्य रखा है।
  • प्रत्येक विधानसभा में सामुदायिक केन्द्र का निर्माण कराना - प्रयास जारी है।
  • महिला गृह उद्योग को बढ़ावा देना - इस क्षेत्र में पार्टी स्तर से तथा प्रशासनिक सहयोग से लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।
  • कन्याओं के लिए वोकेशनल ट्रेनिंग के कार्यक्रम चलाकर रोजगार दिलाना - प्रयास जारी है।
  • महिलाओं एवं कन्याओं को सुरक्षा एवं सम्मान दिलाना तथा कानून व्यवस्था को सुदृढ़ कराना - जनपद में कानून व्यवस्था को सुदृढ़ रखने व महिलाओं के सम्मान की रक्षा के लिए मेरे द्वारा हर मोर्चे पर सजगता से प्रयास किये। पूर्ववर्ती सरकार में ध्वस्त कानून व्यवस्था को लेकर बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन व प्रशासन  के मनमाने रवैये पर सख्ती से निपटा गया, इसके लिए चाहे सिद्धौर दंगा, सूरतगंज साम्प्रदायिक दंगा, माती काण्ड, बोजा काण्ड, कोठी काण्ड आदि मुद्दो सरकार को घेरते हुए महिला सम्मान व कानून व्यवस्था के लिए खड़ी रही।
  • बाराबंकी में कल-कारखानो की व्यवस्था कराकर बेरोजगार नौजवानों को रोजगार की उपलब्ध कराना - प्रयास जारी है।
  • बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए जन-जन तक स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराना - मुख्य चिकित्साधिकारी और जिलाधिकारी के साथ बैठक कर समीक्षा की जा रही है, निरन्तर स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार हो रहा है।
  • हैदरगढ़ तथा फतेहपुर में महिला महाविद्यालय का निर्माण कराना - दरियाबाद में महाविद्यालय स्वीकृत किया जा चुका है, हैदरगढ़ तथा फतेहपुर में महिला महाविद्यालय स्वीकृत कराये जाने हेतु प्रयासरत हैं।
  • लाडली बीमा योजना - इस योजना को उत्तर प्रदेश में लागू कराये जाने का प्रयास किया जा रहा है।
  • बाराबंकी-रामनगर सड़क दुरस्त कराना - इस मार्ग को राश्ट्रीय राजमार्ग घोशित किया जा चुका है तथा निर्माण कार्य पूर्ण करा लिया गया है।
  • बुजुर्गो एवं विधवाओं की पेंशन राशि बढ़ाया जाना - प्रयास जारी हैं।

सांसद स्थानीय विकास निधि के अन्तर्गत कराये गये कार्यो का विवरण

संसदीय क्षेत्र बाराबंकी में विकास कार्यो के लिए सांसद स्थानीय विकास निधि के अन्तर्गत 4 किस्त प्राप्त हुई, जिनमें से जनपद के विकास कार्यो की  प्रथम 3 किस्तों का कुल 7.5 करोड़ रूपये शत-प्रतिशत खर्च कराया जा चुका है।

निधि के सापेक्ष हालही में चैथी किस्त 2.5 करोड़ धनराशि विकास कार्यो में खर्च किये जाने हेतु प्राप्त हो चुकी है, जिसके क्रम में कार्ययोजना सम्बंधित को भेजी जा चुकी है।

सांसद निधि में खर्च की पूरी पारदर्शिता रखी गयी है जो निम्न है-

बाराबंकी नगर में एम0बी0 कालेज के पास से सांसद आवास तक लगभग 23 लाख रूपये की लागत से सी0सी0 रोड निर्माण कराया गया।

बच्चों के समुचित शिक्षा व्यवस्था के अन्तर्गत विद्यालयों में अतिरिक्त कक्ष एवं छात्र/छात्राओं के लिए शौचालय निर्माण हेतु लगभग 10,00,000/- का अनुदान सांसद स्थानीय विकास निधि से स्वीकृत कराया गया।

सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास निधि के अन्तर्गत वर्श 2014 से अब तक कुल 1432 सोलर लाइटे संसदीय क्षेत्रों के विभिन्न विकासखण्डों में सुदूर ग्रामीण इलाको व सार्वजनिक स्थलों पर प्रकाश की व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए स्थापित करायी जा चुकी है।

संसदीय क्षेत्र बाराबंकी के विभिन्न विकासखण्डों के ग्रामीण व शहरी इलाको में शुद्ध पेय जल की व्यवस्था हेत वर्श 2014 से अब तक कुल 1170 इण्डिया मार्का हैण्डपम्प स्थापित कराये जा चुके हैं।

सांसद जी के प्रयास से सी0एस0आर0 फण्ड से स्थापित कुल 500 सोलर लाइटे को मिलाकर संसदीय क्षेत्र में अबतक कुल 1932 सोलर लाइटें विभिन्न विकासखण्डों में स्थापित करायी जा चुकी है।

जनपद की समस्याओं को लोकसभा पटल पर

  • 8 अगस्त 2014 - सांसद ने बाराबंकी में रेल मार्गो के विस्तार व ट्रेनो के ठहराव जैसे अति महत्वपूर्ण मुद्दो को सदन के पटल पर रखा।
  • सांसद प्रियंका सिंह रावत ने कहा कि बाराबंकी जनपद में मेंथा की खेती प्रमुखता से की जाती है तथा मेंथा आयल की गुणवत्ता में जनपद का प्रथम स्थान है, परन्तु किसानो को मेंथा की उपज का उचित मूल्य नही मिल पा रहा है, मेंथा की फसल पेराई के लिए उचित प्रबंध न होने से सैकड़ो बीघा फसल बर्बाद हो जाती है। सांसद ने मेंथा किसानो के लिए मेंथा आधारित उद्योग की स्थापना पर जोर देते हुए मंेथा आॅयल को न्यूनतम समर्थन मूल्य में सूचीबद्ध किये जाने की मांग रखी।
  • जनपद के अतिमहत्वपूर्ण स्थलो को रेल यातायात से सम्बद्ध किये जाने हेतु बाराबंकी जक्शन से देवां-फतेहपुर होते हुए सूरतगंज तक नई रेल लाइन बिछाई जाने की मांग सदन में उठायी। नये रेल मार्ग के निर्माण से देवां शरीफ तथा हेतमापुर के धार्मिक स्थलों में आने-जाने वाले श्रद्धालुओं को सुविधा का लाभ मिल सकेंगा तथा लम्बी दूरी की अतिमहत्वपूर्ण ट्रेनो को बाराबंकी जक्शन पर ठहराव की मांग की गई।
  • 17 दिसम्बर, 2014 - सांसद ने लोकभा में अपने संसदीय क्षेत्र बाराबंकी में अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित ट्रामा संटर की स्थापना की रखी। सांसद ने सदन में अपनी बात रखते हुए कहा कि बाराबंकी जनपद में कई महत्वपूर्ण व्यस्तम राजमार्ग हैं, जिनपर आये दिन कहीं न कहीं अप्रिय घटनाएं होती रहती हैं, दुर्घटना के दौरान गम्भीर अवस्था में पीड़ित को 20 किमी दूर लखनऊ ले जाना पड़ता है, सही समय में चिकित्सा न मिल पाने से प्रायः मरीज की मौत हो जाती है। ऐसी अवस्था में जनपद में ट्रामा सेंटर खोला जाना नितान्त आवश्यक है।
  • 16.03.2016 - बजट पर चर्चा के दौरान लोकसभा में सांसद प्रियंका सिंह रावत ने संसदीय क्षेत्र के सर्राफा व्यापारियों की समस्याओं को पटल रखा।